बल क्या है? परिभाषा- बल किसे कहते हैं?What is Force?

What is force?- Bal kya hai- bal ki paribhasa- Definition in hindi

What is force? Bal kya hai?


परिभाषा :

बल वह कारक है, जो किसी वस्तु पर लगकर उसके विरामवस्था अथवा गतिव्यवस्था में परिवर्तन करे अथवा करने का प्रयास करे, तो वह बल कहलाता है। बल का S. I. मात्रक न्यूटन (N) होता है।

विश्लेषण :

हम यह कह सकते हैं कि अपकर्षण अथवा अभीकर्षण अर्थात् धकलेने और खींचने की वह प्रक्रिया जिससे किसी वस्तु में परिवर्तन लाया जाए या लाने की कोशिश करें, तो उसे हम बल कहते हैं।

बल को देखा नहीं जा सकता है बल को उसके प्रभाव से महसूस किया जा सकता है। अतः वस्तु पर कार्यरत बल निम्न प्रभाव को उत्पन्न कर सकता है।

1.विरामवस्था में स्थित वस्तु को गतिशील कर सकता है।

2.गतिशील वस्तु को विराम अवस्था में ले जा सकता है।

3.वस्तु की चाल में परिवर्तन कर सकता है। 

4.वस्तु की दिशा में परिवर्तन कर सकता है।

5.वस्तु की आकृति में परिवर्तन कर सकता है।

बल के उदाहरण :- 

  • 1.गोला फेंक प्रतियोगिता में खिलाड़ी गोला इस प्रकार देखना चाहता है कि वह अधिकतम दूरी तय कर सकें। इसके लिए गोले को जोर से फेंकना होगा। हम कह सकते हैं कि उस फेंकने के लिए गोले पर अधिकतम बल लगाना पड़ेगा।
  • 2.जब हम कुआँ से पानी निकालते हैं तो हमें बाल्टी ऊपर करने के लिए रस्सी खींचना पड़ता है तो जब हम रस्सी खींचते हैं तो बल लगाना पड़ता है।
  • 3.जब हम फुटबॉल को किक मारते हैं तो उस वक्त हम बल का प्रयोग करते हैं।
बल क्या है? परिभाषा- बल किसे कहते हैं?What is Force?- Bal kya hai- bal ki paribhasa- Definition in hindi
What is force? Bal kya hai?

परिणामी बल :

समान दिशा में कार्यरत बल

जब दो बल किसी वस्तु पर एक ही दिशा में कार्यरत होता है तो परिणामी बल दोनों बलों के योग के बराबर होता है। अर्थात रिणामी बल का मान अधिक होता है।

विपरीत दिशा में कार्यरत बल

जब दो बल किसी वस्तु पर विपरीत दिशा में कार्यरत होता है तो परिणामी बल का मान दोनों बल के अंतर के बराबर होता है। अर्थात परिणामी बल कमान कम जाता है।

बल साधारणत: पांच प्रकार के होते हैं :- जानने के लिए निचे क्लिक करें।  


इन सभी बलों को दो समूह में बांटा गया है :-

संपर्कित बल :-

जब एक वस्तु दूसरे वस्तु पर सीधे भौतिक संपर्क द्वारा पर लगाता है। उसे संपर्कित बल कहते हैं।
जैसे - मांस पेशिय बल, घर्षण बल इत्यादि


असंपर्कित बल :-

जब एक वस्तु के द्वारा दूसरे वस्तु पर कुछ दूरी से बिना सीधे संपर्क बल लगाया जाता है, तो उसे असंपर्कित बल कहते हैं।


जैसे - चुंबकीय बल, स्थिर विद्युत बल, गुरुत्वाकर्षण बल ईत्यादि।

बल का S.I मात्रक न्यूटन(Netwon) है। N से दर्शाया जाता है



Keyword:, peshiya bal in english, bal in hindi, dharavahik vidyut, vidyut akarshan, aavesh kise kahate hain, gharsan balin english, bal ka si matrai, vidyut avesh tatha kulam ke niyam, reyomind, mithun saha, bal kya hai,force,what is,in hindi,difinitaion


..आपको यह पोस्ट कैसा लगा कृपया कमेंट करके बताएं, कोई सवाल हो तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। और इसी तरह के पोस्ट आगे पढ़ने के लिए हमारे वेबपेज को फॉलो कीजिए। - wWw.Reyomind.com

Post a Comment

0 Comments