अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियाँ | International Yoga Day 21th June


  • Antarrashtriya yog divas | International Yoga Day 21th June 


International Yoga Day 21 june
International Yoga Day


अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस :

योग हमारे जीवन का अहम हिस्सा है। योग करने से हम शारीरिक अथवा मानसिक रूप से स्वस्थ रहते हैं।

योग भारत की ही देन है। प्राचीन काल से ही ऋषि-मुनियों द्वारा हमें योग करने  को हमारे जीवन में हमें बहुत महत्वपूर्ण बताया गया है। योग से हमारे दिमाग में असीम शांति का अनुभव होता है। तथा बड़े-बड़े बीमारियों का भी इलाज हम योग से कर सकते हैं।

एक मनुष्य को स्वस्थ रहने के लिए योग तथा व्यायाम करना बहुत जरूरी है। योग से हमारा शारीरिक संतुलन बना रहता है। ताजी हवा में टहलने और खेलने से शरीर चुस्त-दरुस्त रहता है।

इसके महत्व को देखते हुए पूरे विश्व में 21 जून को अंतरराष्ट्रीय विश्व योग दिवस मनाया जाने लगा है।

परंतु योग हमें नियमित रूप से करना चाहिए। केवल एक दिन योग दिवस मनाने से हम स्वस्थ नहीं हो सकते हैं। सुबह उगते सूर्य के साथ हमें रोज व्यायाम करना चाहिए।


क्या है योग दिवस का महत्व :

योग को प्राचीन भारतीय कला का एक प्रतीक माना जाता है. भारतीय योग को जीवन में सकारात्मकता और ऊर्जावान बनाए रखने के लि‍ए महत्वपूर्ण मानते हैं। इस दिन को मनाने का उद्देश्य योग के प्रति लोगों में जागरुकता पैदा करने के साथ लोगों को तनावमुक्त करना भी है।

यूँ तो योग हमारे जीवन में प्राचीन काल से ही चली आ रही है। परंतु इसे और मजबूत बनाने के लिए हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने लोगों को योग की ओर प्रोत्साहित किया।

27 सितंबर 2014 को अमेरिका के महासभा में श्री नरेंद्र मोदी ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की नींव रखी। जिसके बाद 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया गया।


International Yoga Day 21 june
International Yoga Day


भारत में प्रथम योग दिवस :

भारत में पहले अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को मनाने के लिए बाबा रामदेव ने भी इस कार्यक्रम में भाग लिया। और बहुत सारी तैयारियाँ की। पहले विश्व योग दिवस को यादगार बनाने के लिए बाबा रामदेव ने 35 मिनट का स्पेशल योग पैकेज बनाया।

भारत में 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस बड़े उत्साह के साथ मनाया गया। योग दिवस का मुख्य समारोह दिल्ली के राजपथ पर हुआ। जिसमें प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने भी हिस्सा लिया और कसरत की।


21 जून 2015 को भारत में पहली बार योग दिवस मनाया गया। जिसमें एक साथ 35000 लोगों ने हिस्सा लेकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guinness Book of World Records) में अपना नाम दर्ज करा लिया।


International Yoga Day 21 june
International Yoga Day

वास्तव में योग दिवस को 21 जून को मनाने के पीछे एक बहुत ही महत्वपूर्ण वजह थी। 21 जून को कैलेंडर के हिसाब से सबसे बड़ा दिन माना जाता है। इस दिन सूर्य सबसे पहले उगता है और देर शाम को डूबता है।

हमें युग की शुरुआत हमेशा सूर्य प्रायनाम से करनी चाहिए। सूर्य का योग के साथ काफी गहरा संबंध है। हमें बड़ा दिन में बड़े समय तक योग करने की क्षमता मिलती है। इन सब चीजों को देखते हुए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए 21 जून को चुना गया।

हमें हर साल इस योग दिवस में हिस्सा लेना चाहिए। योग को हमारे जीवन में लाना बहुत महत्वपूर्ण है। इसलिए योग को अपने जीवन में लाइए और एक स्वस्थ जिंदगी का आनंद लीजिए।


योग दिवस पर विवाद :

योग दिवस को लेकर कई विवाद भी हो चुकी है। दरअसल सूर्य नमस्कार और श्लोक जप को इस कार्यक्रम में अनिवार्य रखा गया था। इसलिए मुसलमानों ने इसका विरोध किया।

सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर हो रहे विवाद को खत्म करने के लिए सूर्य नमस्कार और श्लोक जप की अनिवार्यता को इस कार्यक्रम से हटा दिया। और मुसलमानों से इस आयोजन में भाग लेने की अपील की।

आयुष मंत्री श्रीपद नायक ने मुसलमानों को इस कार्यक्रम में श्लोक जप की जगह अल्लाह का नाम पढ़ने का सुझाव दिया।



International Yoga Day
International Yoga Day

Must Read : असल जिंदगी का पक्षीराज डॉ. सलीम अली

keyword: international yoga day 2019 theme, antar rashtriya yog diwas par nibandh, antrashtriy yog divas, yoga day in hindi pdf, antarrashtriya yog divas kab manaya jata hai, reyomind

..आपको यह पोस्ट कैसा लगा कृपया कमेंट करके बताएं, कोई सवाल हो तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। और इसी तरह के पोस्ट आगे पढ़ने के लिए हमारे वेबपेज को फॉलो कीजिए। - wWw.Reyomind.com

Post a comment

0 Comments