अकबर - एक महान शासक या क्रूर शासक | Akbar - a great ruler or cruel ruler

  • Akbar Ek Mahan Sasak Ya Krur Sasak in Hindi

Tag: मुग़ल साम्राज्य [Mughal Empire]



अकबर (Akbar)
अकबर (Akbar)

Akbar - a great ruler or cruel ruler


अकबर का इतिहास :

जलालुद्दीन मोहम्मद अकबर जो तैमूरी वंशावली के मुगल वंश का तीसरा शासक था। अकबर को विश्व के महान सम्राटों में से एक माना जाता है पर इस बात में कितनी सच्चाई है यह कोई नहीं जानता है।अकबर बाबर का पौत्र और नसरुद्दीन हुमायूंँ का पुत्र था।

अकबर को इतिहास में महान बताया गया है। अकबर ही एक ऐसा मुगल शासक था जिसने हिंदू और मुस्लिम दोनों वर्गों को समान दर्जा दिया है, अगर हम इतिहास के पन्नों में देखे तो हमें कुछ इस तरह के तथ्य मिलेंगे। परंतु यह काफी हद तक सच नहीं है। हमें आम किताबों में यह सारी सच्चाई नहीं बताई जाती है।

अपने आरंभिक शासनकाल में अकबर को हिंदुओं के प्रति बहुत ज्यादा नफरत और असंतोष थी। उसने अपने आरंभिक जीवन में कई हिंदू मंदिर तोड़े, और हिंदू महिलाओं को जबरन उठाकर ले जाते थे। और अन्य कई अत्याचार करते थे।

परंतु बढ़ते उम्र के साथ उसका साम्राज्य बढ़ता चला गया और वह बदलने लगा। उसका हिंदुओं पर से नफरत कम होने लगा।। उसने कई हिंदू राजपूत राजकुमारियों से वैवाहिक संबंध बनाएं। और उन राजकुमारियों को कभी उसके घर जाने नहीं दिया जाता था।


jhodha akbar
बेगम जोधा बाई और सम्राट अकबर


अकबर का विवाह :

अकबर ने आमेर की राजकुमारी जोधा बाई से विवाह किया, विवाह के बाद वह मुस्लिम बनी और मरियम - उज - जमानी जोधा बेगम कहलाई। उसे राजपूत परिवार ने सदा के लिए त्याग दिया और विवाह के बाद वह कभी आमेर वापस नहीं गई।

हिंदू राजकुमारी का मुस्लिम राजाओं से शादी करने वाली प्रथा बहुत पहले से थी। लेकिन अधिकांश विवाह के बाद आपसी संबंध अच्छे नहीं होने के कारण यह काभी सफल नहीं रहा।

हालांकि अकबर ने इस मामले में काफी गुणवत्ता दिखाई, अकबर ने जोधा के परिवार को अच्छा सम्मान दिया और राजपूतों को अपने दरबार में स्थान दिया।

तत्कालीन समाज में सम्राट अकबर द्वारा वेश्यावृत्ति को संरक्षण दिया गया था। उनका एक बहुत बड़ा हरम था जिसमें बहुत सारी महिलाएं थी। ज्यादातर हिंदू महिलाओं को वहां अगवा कर रखा गया था। सती प्रथा और समय बहुत जोर - शोर से थी।

तब यह कहा जाता है कि अकबर के सैनिक जो सुंदर महिला को सती होते हुए देखते तो वह लोग जबरदस्ती महिला को उठाकर ले जाते थे और हरम में डाल देते थें। और पूछने पर सम्राट अकबर का आदेश बताते थे।

अकबर ने राजनीतिक, धार्मिक, आर्थिक, सामाजिक तथा कला के क्षेत्र में सामांजस्य और समन्वय की नीति द्वारा एक महान सामाजिक संस्कृति का विकास किया। इसमें सभी वर्गों का योगदान था। इससे सभी में राष्ट्रीय भावना उत्पन्न हुई और सभी क्षेत्रों में एकता स्थापित हुई।


इबादतखाना दिन - ए - इलाही आदि धार्मिक सद्भावना तथा समन्वय की दिशा में उसके महत्वपूर्ण कार्य थे। इबादत खाने में हिंदू, मुस्लिम, ईसाई, पारसी तथा जैन धर्म के विद्वानों को आमंत्रित किया जाता था। सप्ताह में एक दिन अकबर उनके प्रवचन सुनता था तथा धार्मिक एवं आध्यात्मिक विषयों पर वार्तालाप करता था।


अकबर की नीति :

अकबर ने सभी धर्मों में सामंजस्य स्थापित करने के लिए 1582 ई. में दीन  - ए - इलाही (तोहिद - ए - इलाही) नामक एक नए धर्म की शुरुआत की थी। इस धर्म का प्रधान पुरोहित अबुल फजल था।

अकबर की नीति प्रजा के अधिकतम कल्याण पर आधारित थी। उसने प्रजा तथा शासक के मध्य की दूरी को बांटने की कोशिश की। समस्त साम्राज्य में प्रशासनिक एकता, भू - राजस्व प्रशासन, समान कर प्रणाली, शासकीय पदों पर योग्यता के आधार पर नियुक्तियों के द्वारा एक ऐसा सुसंगठित प्रशासन तंत्र स्थापित हुआ। जैसा मध्यकाल में पहले कभी नहीं हुआ था।


अकबर ने संस्कृति के विकास के लिए भी महत्वपूर्ण कार्य किए। उसने फारसी को राजभाषा बनाया तथा एक अनुवाद विभाग की स्थापना की। जिसके द्वारा उसने संस्कृत, अरबी, यूनानी और तुर्की ग्रंथों का फारसी में अनुवाद करवाया। उसके दरबार में विभिन्न भाषाओं के विद्वान थे। जिन्हें रायाश्रय प्रदान किया गया था।


अकबर का शासन काल :

अपने पिता हुमायूँ की मृत्यु के समय वह पंजाब के कलानौर नामक स्थान पर था। उसके संरक्षक बैरम खांँ ने उसे वहीं ईटों का साधारण सा मंच बनाकर हुमायूंँ को उत्तराधिकारी घोषित किया। 

अकबर ने अपने शासनकाल में राज्यारोहण के बाद 4 वर्षों तक उसने बैरम खांँ की देखरेख में राज-काज किया। 1556 में पानीपत के द्वितीय युद्ध में अकबर के सेनापति बैरम खाँ ने हेमू को पराजित किया। 



 अन्य मुगल सम्राटों शासनकाल

 1.बाबर (1526 - 1530)
 2.हुमायूंँ (1526-1540) तथा (1555-1556)
 3.अकबर (1556-1605)
 6.औरंगजेब (1658 -1707)


Keyword: Akbar, akbar ek mahan sasak, akbar ka sasan kal, akbar biography, akbar son, jodha akbar history, how akbar died, akbar family, about akbar in english, Akbar a great ruler or cruel ruler, akbar the great mughal empreror, indian history, mughal empreror,shahjahan ka sasankal in hindi, shahjahan's reign , indian history, shahjahan mughal samarat, shahjahan the great mughal empreror, indian history, mughal empreror , reyomind, aurangzeb ka sasan kal, jahangir ka sasan kal, shahjahan ke pita ka naam, shahjahan kiska beta tha, shahjahan ke bete ka kya naam tha, shahjahan ka janm kab hua tha, indian history in hindi, mughal architecture,mughal empire family tree


..आपको यह पोस्ट कैसा लगा कृपया कमेंट करके बताएं, और इसी तरह के पोस्ट आगे पढ़ने के लिए हमारी वेबपेज को फॉलो कीजिए।

Post a comment

0 Comments