मुगल सम्राट बाबर का शासनकाल (1526 - 1530)

Tag:भारत की खोज किसने की ?



  • Babar ka sasankal (1526-1530)


बाबर (1526 - 1530)
बाबर (Babar)
बाबर का मूल नाम जहीरुद्दीन मोहम्मद बाबर था। बाबर का जन्म 1483 ई. में फरगाना घाटी में हुआ था। बाबर को 12 वर्ष की उम्र में पिता उमर शेख मिर्जा की मृत्यु के बाद फरगाना की गद्दी मिली, लेकिन कुछ समय बाद ही एक युद्ध में पराजय के फलस्वरूप उसे फरगाना की गद्दी छोड़नी पड़ी। 

अनेक वर्षों तक भटकने के बाद वह काबुल होता हुआ भारत पहुंचा। इस समय तक उसके पास युद्ध कौशल में निपुण तथा अस्त्र-शस्त्रों से सुसज्जित एक बड़ी सेना थी।

1504 ई. में काबुल तथा 1507 ई. में कंधार को जीतकर बादशाह (शाहो का शाह) की उपाधि धारण की। 

1519 ई. से 1526 ई. तक भारत पर उसने 5 बार आक्रमण किया, तथा सफल 1526 ई. में उसने पानीपत के मैदान में दिल्ली सल्तनत के अंतिम सुल्तान इब्राहिम लोदी को हराकर मुगल वंश की नींव रखी। और बाबर ने मुगल वंश का स्थापना किया।

Tag:अंग्रेजों ने भारत को क्यों आजाद किया था?

बाबर (1526 - 1530)

1526 ई. में पानीपत के मैदान में उसने अफगान शासक इब्राहिम लोदी को हराकर दिल्ली तथा आगरा को अपने कब्जे में कर लिया। इसके बाद 1527 के खनावा में राणा सांगा तथा 1528 में चंदेरी में राजपूतों को पराजित कर अपनी स्थिति को मजबूत कर ली। 

उसने 1527 में खानवा 1528 मैं चंदेरी तथा 1529 में आगरा जीतकर अपने राज्य को सफल बना दिया और 1530 ई० में आगरा में उसकी मृत्यु हो गई।

बाबर (1526 - 1530)
बाबर (1526-1530)
उसका शासनकाल 4 वर्षों का रहा। उसका अधिकांश समय युद्धों में गुजरा। बाबर ने अपनी आत्मकथा तुजुक - ए - बाबरी (बाबरनामा) तुर्की भाषा में लिखी। उसे मुबइयान नामक पद्द शैली का जन्मदाता माना जाता है।
हुमायूँ (1530-1540)
हुमायूँ कौन था ?



Keyword: Babar ka sasankal, , indian history, The reign of Mughal emperor Babur, babar ka sasan, mughal samrat babar, mughel empire, indian history, akbar babar, history of india,mughal architecture


आपको यह पोस्ट कैसा लगा कृपया कमेंट करके बताएं, और इसी तरह के पोस्ट आगे पढ़ने के लिए हमारी वेबपेज को फॉलो कीजिए।

Post a Comment

0 Comments